ॐ नमः शिवाय

ॐ नमो भगवते रुद्राय

वही शून्य है वही इकाई जिसके भीतर बसा शिवाय

देवो के देव महादेव भगवान शिव जी के रूपो में से एक भगवान काशीन देव का मँदिर भारत में चीन  और नेपाल की सीमा पर हिमालय पर्वत के समीप  देवभूमि उत्तराखंड के पिथौरागड़ जिले के ख्वांतड़ी ग्राम में प्राचीनकाल से स्तिथ है
इस महान मँदिर की विशेषता है कि यहाँ जो भी भक्तगण आते है वो ख़ाली हाथ नही जाते.काशीन देव अपने हर भक्तो की मनोकामना पूरी करते हैं.